हृदय हमारे शरीर का एक सबसे अहम हिस्‍सा है, जिसे स्‍वस्‍थ रखना हमारी उम्र को बढ़ा सकता है। इन दिनों दिल की बीमारियां, मृत्‍यु का सबसे बड़ा कारण बनी बैठी हैं। ऐसे में नियमित व्‍यायाम और अच्‍छी डाइट का होना बेहद जरुरी है। ह्रदय रोग का एक कारण है शरीर में वात दोष का बढ़ना तथा रक्त की अम्लता (ऐसिडिटी) भी हो सकता है। जन्मजात हृदय रोग, जन्म के समय हृदय की संरचना की खराबी के कारण होता है

अगर आप अपने हृदय को हमेशा स्‍वस्‍थ रखना चाहते हैं, तो आप अपना ख़ान पान और व्‍यायाम पर नियमित ध्यान देना शुरू करदे.

  • सुबह नाश्ता अवश्य करें और समय पर लंच करें।
  • नमक का उपयोग कम से कम करें।
  • कम वसा वाले आहार लें।
  • ताजी सब्जियां और फल लें।
  • जितने भी रंगीन फल होते हैं वे स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होते हैं।
  • तंबाकू से दूर रहें।
  • खाना बनाने के लिए जैतून तेल (Olive Oil) का प्रयोग करें।
  • पर्याप्त नीद लें। पर्याप्त नीद नहीं लेने पर शरीर से Stress Hormones निकलते हैं, जो धमनियों को Block कर देते हैं और जलन पैदा करते हैं।
  • स्ट्रेस से दूर रहे
  • तनाव हृदय के स्वास्थ के लिए हानिकारक होता है। तनाव के कारण मस्तिष्क से जो रसायन स्रावित होते हैं वे हृदय की पूरी प्रणाली खराब कर देते हैं। तनाव से उबरने के लिए योग का सहारा लिया जा सकता है।
  • थोड़ा समय व्यायाम के लिए निकालें। प्रतिदिन कम से कम आधे घंटे तक व्यायाम करना हृदय के लिए अच्छा होता है। ऐसा करने से Heart-Attack होने का खतरा एक-तिहाई तक घट जाता है।

एनर्जी ड्रिंक घर पर खुद का लो कैलोरी वाला एनर्जी ड्रिंक बना कर पियें। नींबू का रस और उसमें एक चम्‍मच शहद मिला कर पियें। इससे आपको तुरंत ही एनर्जी मिलेगी और दिल की बीमारियां भी दूर होंगी।