जैसा कि अधिकांश लोग जानते हैं कि थायराइड के कारण थकान, मस्तिष्क में परेशानी, वजन बढ़ना तथा शरीर का तापमान कम होने जैसी समस्याएं होती हैं, कई लोग नहीं जानते कि थायरोइड के कारण बाल झड़ने की समस्या भी हो सकती है। तितली के आकार वाली थायरायड ग्रंथि गर्दन में श्‍वांस नली के ऊपर होती है। यह ग्रंथि शरीर के मेटाबॉलिज्‍म को नियंत्रित करती है, अर्थात जो हम खाते हैं यह उसे उर्जा में बदलती है। इसके अलावा थायराइड ग्रंथि हृदय, मांसपेशियों, हड्डियों व कोलेस्‍ट्रॉल को भी प्रभावित करती है।

Thyroid Gland से produce होने वाले hormones शरीर में होने वाले सभी मेटाबोलिक प्रक्रियाओं को affect करते हैं। थायराइड disorders से घेंघा जैसी छोटी बीमारी से लेकर जानलेवा कैंसर तक हो सकता है। लेकिन जो सबसे common थायराइड प्रॉब्लम होती है वो है थायराइड हॉर्मोन्स का सही मात्रा में प्रोडक्शन ना होना। इसमें दो तरह की समस्या आती है-

  1. Hyperthyroidism (हाइपरथायरायडिज्म / अतिगलग्रंथिता ): ज़रुरत से अधिक hormones का पैदा होना
  2. Hypothyroidism (हाइपोथायरायडिज्म / अवटु-अल्पक्रियता): ज़रूअत से कम हॉर्मोन्स का प्रोडक्शन होना

अक्सर थाइरॉइड के लक्षणों को हम शुरुआती दौर में भांप ही नहीं पाते हैं और बाद में इसके लक्षणों की अनदेखी हमें हाइपोथाइरॉइड या हाइपरथाइरॉइड की स्थिति तक पहुंचा देती है।

 

अगर आप इन लक्षणों को महसूस कर रहे हैं तो हो सकता है ये आपके लिए थाइरॉइड की समस्या का संकेत हों।

  • मोटापा : हाइपोथाइरॉइड की स्थिति में अक्सर तेजी से वजन बढ़ता है। इतना ही नहीं शरीर में कॉलेस्ट्रॉल का स्तर भी बढ़ जाता है। वहीं हाइपरथाइरॉइड में कॉलेस्ट्रॉल बहुत कम हो जाता है।

 

  • जोड़ों में दर्द :थकान के साथ ही थायराइड के रोगियों को जोड़ों जैसे घुटनों, कमर, गर्दन में दर्द रहने लगता है. इन्हें शारीरिक के साथ साथ मानसिक समस्यायें भी उत्पन्न होने लगती है. जिनकी वजह से व्यक्ति तनाव की स्थिति में भी पहुँच जाता है.

 

  • बालों और त्वचा की समस्या : खासतौर पर हाइपोथाइरॉइड की स्थिति में त्वचा में रूखापन, बालों का झड़ना, भौंहों के बालों का झड़ना जैसी समस्याएं होती हैं जबकि हाइपरथाइरॉइड में बालों का तेजी से झड़ना और संवेदनशील त्वचा जैले लक्षण दिखते हैं।

 

  • जुखाम : थायराइड का सबसे स्पष्ट लक्षण होता है जुखाम. ये कुछ सामान्य जुखाम नही होता बल्कि थोडा अलग होता है. जिससे व्यक्ति बहुत परेशान होता है और ये जल्दी से ठीक भी नही होता.

 

  • रोगप्रतिरोधक क्षमता कम़जोर हो जाती है :  थाइराइड होने पर शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता कम़जोर हो जाती है। इम्यून सिस्टम कमजोर होने के चलते उसे कई बीमारियां लगी रहती हैं।