बच्चों के लिए पौष्टिक आहार (Nutritious Food For Kids)

बच्चों के लिए पौष्टिक आहार (Nutritious Food For Kids)

बचपन में की गई देखभाल बच्चे को आने वाले जीवन में स्वस्थ और सफल बनाने की नींव मानी जाती है, बच्चों की देखभाल में सबसे जरूरी टिप्स होते हैं कि उनके खानपान का ध्यान रखा जाए,  स्वस्थ खाना बच्चों के शारीरिक और मानसिक विकास (Physical and Mental Development of Kids) के लिए बेहद जरूरी है। स्वस्थ खाने से बच्चे ऊर्जावान बने रहते हैं तथा बच्चों का दिमाग भी तेज होता है।  अच्छे पोषक तत्व कुछ बिमारियों जैसे मोटापा, कमजोर हड्डियां से बचने में सहायता करते हैं और यह सुनिश्चित करता है कि आपका बच्चा पूरी क्षमता के साथ विकास कर रहा है।

फल और सब्जियां  (Fruits and Vegetables) –

रोजाना दो सर्विंग। फल और सब्जियों को स्नैक्स के तौर पर भी दिया जा सकता है। इसके अलावा सब्जियों का सूप बनाकर भी दिया जा सकता है। फल और सब्जियों में विटामिन और खनिज की मात्रा ज्यादा होती है। विटामिन और खनिज स्वस्थ त्वचा, अच्छी ग्रोथ, विकास और संक्रमण से लड़ने के लिए आवश्यक हैं। सब्जियों में फाइबर भरपूर मात्रा में होती है जिसमें विटामिन ए, सी और सुक्ष्म पोषक जैसे मैग्नीशियम और पोटेशियम पाया जाता है। सब्जियों में एंटीऑक्सीडेंट भी पाया जाता है जो बच्चों के शरीर को बीमारियों से लड़ने की शक्ति देता है। विटामिन बी से भरपूर खाना साबुत अनाज, मांस और डेयरी प्रोडेक्टस है।

विटामिन और खनिज (vitamins and minerals) –

विटामिन और खनीज शरीर की स्वस्थ वृद्धि और विकास को बढ़ावा देते हैं। आयरन और कैल्शियम बच्चों के लिए बहुत आवश्यक खनीज हैं। ग्रोथ कर रहे बच्चे को अपनी हड्डियां और दांत मजबूत करने के लिए कैल्शियम की जरुरत होती है। दूध और दूध से बने पदार्थ और एक हद तक हरी पत्ती वाली सब्जियां कैल्शियम का अच्छा स्त्रोत है। किशोर अवस्था में बच्चे की कैल्शियम की आवश्यकता की पूर्ती केवल खाने से ही पूरी नहीं होती बल्कि कुछ अतिरिक्त कैल्शियम सप्लिमेंट की जरुरत हो सकती है।

 

प्रोटीन (protein) –

प्रोटीन शरीर के ब्लॉक बनाता है और शरीर के उत्तकों को बनाने, रखरखाव और मरम्मत करने में सहायता करता है। प्रोटीन से भरपूर खाद्य पदार्थों की आवश्यकता विशेषकर तेजी से बढ़ रहे बच्चों को होती है। प्रोटीन की ज्यादा मात्रा दूध और डेयरी प्रोडक्ट, दालें, आदि में होती है। रोजना अपने बच्चे को प्रोटीन से भरपूर पदार्थ खाने के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए।

जंक फूड के नुकसान (Harmful Effects of Junk Food) –

जंक फूड की ओर बच्चे जल्दी आकर्षित होते हैं लेकिन बच्चों को यह बताना बेहद जरूरी है कि जंक फूड शरीर को किसी भी मायने में फायदा नहीं पहुंचाता। बच्चों को वही भोजन देना चाहिए जो पोषक तत्वों से भरपूर हो। अच्छे पोषक तत्व मोटापा, कमजोर हड्डियां आदि से बचने में सहायता करते हैं।

 

 

नमक की मात्रा कम करें (Reduce Salt Intake) –

– एक टी-स्पून चम्मच में 2300 मिलीग्राम सोडियम होता है। ऐसे में बच्चों को कम नमक दें।

– रेस्टोरेंट, प्रोसेस्ड और पैक्ड फूड से बच्चों को दूर रखें। ऐसे भोज्य पदार्थों में सोडियम होता है जो बच्चों को नुकसान पहुंचाता है।

बच्चे की उम्र     कितना खाएं नमक (प्रतिदिन) –

1 से 3 साल        1,500 मिलीग्राम

4 से 8 साल        1,900 मिलीग्राम

8 से 13 साल     2,200 मिलीग्राम

14 से 18 साल   2,300 मिलीग्राम