बालों के गिरने, और टूटने के करण व इसके घरेलू नुस्खे

हेयर फॉल यानि बालों का झड़ना और गंजापन.इससे आजकल सभी परेशान हैं। बाल झड़ना आज के दिनों में बहुत आम बात हो चुकी है लेकिन जब बाल जरुरत से ज्‍यादा झड़ने लगते हैं तो, डर लगने लगता है कि कहीं मैं गंजा न हो जाऊं नहीं तो बाहर सब मेरा मजाक उडाएंगे। वैसे तो सामान्यतः हमारे लगभग 50 से 100 बाल हर दिन झड़ते हैं। यदि इससे ज्यादा बाल झड़ते हैं, तो यह चिंता का विषय है।

अधिक बाल झड़ना चिंता का विषय है और बेहद डरावना भी। खासतौर पर तब, जबकि इन दिनों रोज कंघे में फंसे बालों का गुच्छा बड़ा होता जा रहा हो। देखिये बाल झड़ना एक ऐसी समस्या है जो कब आम से खास हो जाती है, यह समझने का वक्त ही नहीं मिलता। लेकिन इसकी रोकथाम के लिये जरूरी होता है इसका झड़ने के कारणों की सही जानकारी। कई बार बाल झड़ने की वजहें अनुवांशिक से लेकर मौसम से संबंधित तक हो सकती हैं लेकिन कई बार इसके पीछे कोई गंभीर रोग भी कारण हो सकता है। तो चलिये आज जानते हैं बालों के झड़ने की कुछ ऐसी ही बड़ी वजहें।

थायरॉइड के कारण

बालों का झड़ना थॉयरॉइड बढ़ने का बड़ा लक्षण होता है। दरअसल थायरॉइड ग्लैंड के अधिक सक्रिय होने या कम सक्रिय होने का संबंध बालों के झड़ने से भी है.

चर्म रोग (Lupus)

चर्म रोग(Lupus) एक दीर्घकालिक (Chronic) बिमारी है़, जिसमें शरीर की खुद की रोग प्रतिरोधी प्रणाली कोशिकाओं पर आक्रमण करने लगती है। महिलाएं जब गर्भवती रहती हैं तो यह बीमारी आक्रमण करती है। इसमें बालों के जड़ (scalp) पर रैशेज हो जाते हैं और केश झड़ने-टूटने लगते हैं।

एलोपेसिया एराटा (alopecia areata)

इस स्थिति में प्रतिरक्षा तंत्र हेयर फोलिकल को बदल देता है जिससे बाल झड़ने लगते हैं और कभी-कभी बड़े गुच्छों के रूप में बाल झड़ते हैं | इस प्रकार से बालों के झड़ने के कई कारण हो सकते हैं और तनाव उनमे से एक है |

टायफाइड व वायरल संक्रमण

टायफाइड व वायरल संक्रमण के कारण भी बाल झड़ना तेज हो सकता है। जी हां, बहुत लंबे समय तक तेज बुखार, टायफाइड या वायरल संक्रमण होने पर भी बाल ज्यादा झड़ते हैं।

आनुवांशिक (Genetic)

बालों की कमी, गंजापन या फिर बालों का झड़ना-गिरना अनुवांशिक कारणों से भी हो सकता है। इसके प्रभावी जींस या परिवार में माता से या फिर पिता से उनके संतानों में आती है। यदि माता-पिता दोनों को ऐसी शिकायत है तो संभव है कि उनके संतानों में भी बाल झड़ने की समस्या होगी। हालांकि इसके लक्षण 20 साल की उम्र के बाद देखने को मिलते हैं।

फंगल संक्रमण या अधिक तनाव

कई बार सिर की त्वचा पर फंगल संक्रमण हो जाने पर भी बाल झड़ने लगते हैं। इसके बचाने के लिए उपचार के साथ-साथ हाइजीन का ध्यान रखना बेहद जरूरी होता है। वहीं दूसरी ओर ज्यादातर लोगों में भारी तनाव की वजह से भी उनके बाल झड़ते हैं।

  • अपने बालों के साथ नरमी से पेश आएं। गीले बालों में कंघी करने से परहेज करें। ऐसा करने से बालों की जड़ें खिंच जाती हैं और वो कमजोर हो जाते हैं।
  • सर में रोज़ाना थोडी मालीस किया करें, जिससे मस्तिश्क में रक्त संचार अच्छा होगा और बाल तेजी से बढ़ने लगेंगे।
  • पौष्टिक आहार लें, तले हुए मसालेदार खाने का सेवन कम करे। प्रोटीन विटामिन बी, जिंक, आयरन युक्त भोजन करें।
  • टेंशन और स्ट्रेस ना लें, नियमित योगा करें, हफ्ते में एक बार बालों को भाप जरूर दें।
  • आजकल लोग सुन्दर दिखने के लिए बालों की नयी नयी स्टाइल का प्रयोग करते हैं। पर जैसे ही आप घर वापस आएं, बालों की देखभाल करें और उन्हें अच्छे से साफ़ करके उनपर तेल लगाएं। बालों को ज़्यादा गर्मी देने से परहेज करें।
  • सफ़ेद बालों पर हेयर कलर या डाई की जगह मेहँदी का इस्तेमाल करे।
  • कई लोग नहाते समय या बालों को धोने के लिए बहुत ही ज्यादा गर्म पानी का use करते है. गर्म पानी हमारे Body के लिए नुकसानदायक होता है. जब यह गर्म पानी हमारे बालों पर भी पड़ता है तो वह हमारे बालों को बहुत ही कमजोर बना देता है और वो Automatic ही उखड़ जाते है.

        बालों का गिरना रोकने के लिए घरेलू नुस्खे

  • Neem hair Fall रोकने में बहुत उपयोगी है, ये केवल बालों के लिए ही नही, त्वचा के लिए भी उपयोगी है। निम की पत्तियों को उबाल ले और ठण्डा होने पर उस पानी से बालों को धोए ये पानी बालों की झड़ो में पैदा हुए हानिकारक बैक्टीरिया को खत्म करता है, जिससे बालों की अच्छी ग्रोथ होने लगती है।
  • कमजोर बालों को जड़ों से मजबूत बनाने के लिए विटामिन ई ऑइल बहुत कारगर उपाय है. बालों की जड़ों में विटामिन ई ऑइल से हलकी हलकी मसाज करें और इसे रात भर बालों में लगा रहने दें. यह थोडा चिपचिपा होता है इसीलिए सुबह बालों में शैम्पू कर अतिरिक्त तेल को निकाल लें.
  • रात को 2 चमच्च मेथी के बीज पानी में भिगोकर रखे। सुबह भीगे हुए बीजो को पीस कर एक पेस्ट बना ले। इसमें 4 चमच्च दही और एक अंडे की सफेदी डालकर अच्छे से मिला ले। इस मिश्रण को अपने सिर में जड़ो तक लगाएं और आधा घंटे के लिए सूखने दे उसके बाद पानी से बाल धोले। बाल टूटना रोकने और बाल दोबारा से उगाने के लिए मेथी के असरदार घरेलू नुस्खा है। मेथी बालों को लम्बे, घने , चमकदार और मुलायम भी बनाता है।
  • अपने बालों को मजबूत बनाने के लिए आप अपने बालों में मेहंदी लगाये. मेहंदी बालों के जड़ो के छिद्रों (हेयर क्यूटिकिल्स) को बंद कर देती है जिससे बाल मजबूत होने लगते है. आप अपने बालों के लिए मेहंदी में दही या अंडे का पेस्ट बनाकर अपने बालों के लिए use कर सकते है.
  • बालों को पोषण देने के लिए दही भी बढि़या उपाय है। इसके लिए आपको बालों को धोने से कम से कम 30 मिनट पहले बालों में दही लगानी होगी आप चाहे तो दही में नींबू रस भी मिला सकते हैं। दही को लगाकर अच्छी तरह से दही को सूखने दें। इससे बालों में चमक भी आएगी और बालों में जान भी बनी रहेगी।
  • बाल गिरना रोकने के लिए चुकंदर एक सफल घरेलू उपाय के रूप में इस्तेमाल किया जाता रहा है। चुकंदर में विटामिन बी, सी और पोटाशियम होता है जो बालो के लिए फायदेमंद होते है। चुकंदर की कुछ पत्तिया पानी में डालकर तब तक उबाले जब तक पानी की मात्रा आधी ना रह जाए। अब इन पत्तियों को पीसे और इसके पेस्ट में कुछ हर्बल मेहँदी मिलाये और अपने बालो में लगाए। लगभग आधे घंटे बाद बाल गुनगुने पानी से धो ले।
  • आधा कप एलोवेरा जेल लें और इसे 2 चम्मच मेथी के बीज, 1 चम्मच तुलसी पाउडर और 2 चम्मच कैस्टर आयल के साथ अच्छे से मिलाएं। इनका अच्छा सा पेस्ट बनाकर इसे बालों पर लगाएं और बालों को शावर कैप से ढक लें। इसे सारी रात रहने दें और सुबह एक प्राकृतिक शैम्पू और साफ़ पानी से बाल धो लें। यह मास्क बालों को मज़बूत करता है और उन्हें पोषण देने के साथ जड़ से बालों को सेहतमंद बनाता है। इसका हफ्ते में कम से कम 1 बार प्रयोग करें और आपको अपने आप फर्क दिख जाएगा।